सालभर बाद फिर लॉकडाउन मोड में जिंदगी, एमपी के सभी शहरों में 60 घण्टे का लॉकडाउन शाम 6 बजे से शुरू

0
395
फाइल फोटो

* कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव को लेकर शरू हुई सख्ती

* कटनी, खरगौन, बैतूल, छिंदवाड़ा में 7 दिन और रतलाम में 9 दिन का लॉकडाउन

* पन्ना में लॉकडाउन के पहले सब्जी, किराना की खरीदी को लेकर दिखी अफरातफरी

भोपाल/पन्ना (www.radarnews.in) लगभग एक साल बाद मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से फैलने के कारण प्रदेश में पुनः लॉकडाउन शरू हो गया। प्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार 9 अप्रैल की शाम 6 बजे से सोमवार 11 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक यानी 60 घण्टे का लॉकडाउन शुरू हो गया। कटनी, खरगौन, छिंदवाड़ा और बैतूल जिले में 7 दिन तक लॉकडाउन रहेगा। वहीं रतलाम जिले में 9 दिन तक सम्पूर्ण लॉकडाउन घोषित किया गया है। राजधानी भोपाल के कोलार क्षेत्र को भी आज शाम से 9 दिन के लिए लॉक कर दिया है।
कोरोना महामारी की दूसरी लहर देश-प्रदेश में तेजी से कहर बरपा पा रही है। जिसके कारण प्रतिदिन कोविड-19 संक्रमित नए मरीज रिकार्ड संख्या में मिल रहे हैं। मरीज बढ़ने की रफ़्तार के बीच प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं के लड़खड़ाने से गंभीर होते हालात के मद्देनजर कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव को लेकर लॉकडाउन के रूप में सख्ती शरू की गई है। पाबंदियों को लगाने के पीछे सरकार की मंशा संक्रमण की बेलगाम रफ़्तार को नियंत्रित करना है। फिलहाल उप चुनाव के कारण दमोह को लॉकडाउन से बाहर रखा गया है। इसके बारे निर्णय चुनाव आयोग को लेना है।

24 घण्टे में रिकार्ड 4882 केस

सांकेतिक फोटो।
मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर लगातार कहर बरपा रही है। प्रदेश में पिछले 24 घण्टे में कोरोना संक्रमण के रिकार्ड 4882 नए केस सामने आए हैं। यह आंकड़ा शनिवार 10 अप्रैल तक 5 हजार के पार चला जाएगा। प्रदेश में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 4136 हो चुकी है। इसमें 8 अप्रैल को दर्ज 23 मौतें भी शामिल हैं। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 30,486 हो गई है।

पन्ना में देखी गई अफरातफरी

पन्ना जिला मुख्यालय शुक्रवार 9 अप्रैल को शाम 6 बजे लॉकडाउन लगने के करीब 2-3 घण्टे पहले बाजार में अफरा-तफरी का माहौल देखा गया। दुकानें बंद होने से पहले लोग दो दिन के लिए सब्जी, किराना एवं अन्य जरूरी सामान की खरीदी को लेकर हैरान-परेशान नजर आए। शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार 11 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक यानी 60 घण्टे के लॉकडाउन से पहले पन्ना में सब्जी विक्रेताओं ने सब्जी के दाम बढ़ा दिए। स्थिति यह रही कि दो दिन की सब्जी का इंतजाम करने की गरज से जिसे जो मिला और जिस दाम पर मिला उसे लोगों ने खरीद लिया। लॉकडाउन की उल्टी गिनती शुरू होते ही शहर की सड़कों में भीड़ उमड़ पड़ी। लोग 6 बजे से पहले अपने घर पहुँचने की जल्दी में नजर आए।
घड़ी में जैसे ही शाम 6 बजे बजे और लॉकडाउन शरू हुआ पुलिस के वाहन नगर में सायरन-हूटर बजाते हुए, एनाउंसमेंट करके दुकानें बंद कराने लगे। शाम लगभग 7 बजे तक पूरा बाजार बंद हो चुका और सड़कें सूनीं हो चुकीं थी। उल्लेखनीय है कि कोरोना की वर्तमान स्थिति को देखते हुए कुछ लोगों का मानना है कि कोरोना वैक्सीन के आने और करोड़ों लोगों को टीके लगने के बाद भी संक्रमण का बेहद तेजी से फैलना और इस कारण सालभर बाद पुनः लॉकडाउन लगाया जाना इस बात का स्पष्ट संकेत है कि हालात बेहतर होने के बजाए बदतर हुए हैं।

पन्ना में आज 43 नए संक्रमित मरीज मिले

सांकेतिक फोटो।
पन्ना जिले के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा देर शाम जारी किए गए नोवल कोरोना वायरस मीडिया बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार 9 अप्रैल को पन्ना जिले में संक्रमण के 43 नए केस की पुष्टि हुई है। इस तरह जिले में अब तक कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1469 हो चुकी है। वर्तमान में जिले में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की तादाद 252 हो गई है। आज पुनः पन्ना शहरी क्षेत्र में ही सर्वाधिक 34 नए मरीज मिले हैं जबकि आंचलिक क्षेत्र में सिर्फ 9 केस निकले हैं।