पन्ना जिले में कोरोना पॉजिटिव केस की संख्या बढ़कर हुई तीन, दिल्ली से साकेत के साथ लौटा बिलघाड़ी ग्राम का एक व्यक्ति जांच में निकला संक्रमित

0
1667
पन्ना जिला चिकित्सालय में बनाए गए कोविड-19 वार्डों का निरीक्षण करते हुए कलेक्टर कर्मवीर शर्मा। फाइल फोटो

* जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीमें बिलघाड़ी के लिए हुई रवाना

शादिक खान, पन्ना।(www.radarnews.in) मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में प्रवासियों की वापसी के बीच कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर अब तीन हो गई है। जिले की गुनौर तहसील के ग्राम बिलघाड़ी में रहने वाले एक व्यक्ति के कोरोना सैम्पल की जाँच रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई है। सुबह-सुबह इसकी जानकारी मिलते ही पन्ना जिले का प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए। बिना किसी देरी के आनन-फानन में जिले के पन्ना कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, सीएमएचओ डॉ. एल. के. तिवारी सहित अन्य अधिकारी और स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन की टीमें आगे की कार्रवाई के लिए बिलघाड़ी ग्राम के लिए रवाना हो गईं। कोरोना पॉजिटिव पाए गए भरत त्रिपाठी 44 वर्ष निवासी ग्राम बिलघाड़ी के सम्बंध में जानकारी मिली है कि वह अपने परिवार के साथ कुछ दिन पूर्व दिल्ली से मिनी बस में सवार होकर जिले के दूसरे कोरोना पॉजिटिव मरीज साकेत शर्मा 22 वर्ष निवासी ग्राम घाट सिमरिया के साथ वापस अपने गाँव लौटा था। इसकी पुष्टि पन्ना कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने की है।
ग्राम घाट सिमरिया साकेत के घर के बाहर मौजूद कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, एसपी मयंक अवस्थी एवं सीएमएचओ डॉ. एल. के. तिवारी।
उल्लेखनीय है कि साकेत शर्मा उसके बड़े भाई अभिषेक शर्मा देश के कोरोना हॉट स्पॉट इलाके राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से वापस लौटने की जानकारी कथित तौर उनके मोबाइल फोन में इंस्टॉल आरोग्य सेतु एप्प के माध्यम से मिली थी। इसे गंभीरता से लेते हुए संदेह के आधार पर 15 मई को दोनों भाईयों के साथ कुल 6 लोगों के सैम्पल कोरोना जाँच हेतु लिए गए थे। शनिवार 16 मई को साकेत शर्मा का सैम्पल पाॅजिटिव पाए जाने पर उसे संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर शासकीय आदिवासी छात्रावास गुनौर में रखा गया और फिर इससे दिन रात्रि में उसे बेहतर उपचार हेतु पन्ना जिला चिकित्सालय के कोविड वार्ड में शिफ्ट किया गया था।
सांकेतिक फोटो।
स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले के दूसरे कोरोना संक्रमित मरीज साकेत शर्मा की ट्रेवल हिस्ट्री पता करने एवं प्राइमरी कान्टेक्ट (प्रथम सम्पर्क) के रूप में 15 व्यक्तियों का चिन्हांकन किया गया। सेकेण्डरी कान्टेक्ट (दिव्तीय सम्पर्क) के रूप में 5 व्यक्तियों की पहचान की गयी। इनमें 12 लोगों के सेम्पल लेकर कर जांच हेतु प्रयोगशाला भेजे गए थे। इसमें साकेत के साथ दिल्ली से लौटेने वाले भरत त्रिपाठी निवासी 44 वर्ष निवासी ग्राम बिलघाड़ी का सैम्पल शामिल था जोकि जांच में पॉजिटिव निकला है। गौरतलब है कि पन्ना जिले में कोरोना के अब तक सामने आये तीनों मामलों में संक्रमित व्यक्ति प्रवासी हैं। पहला मरीज इस्लाम मुंबई से लौटा था जबकि दूसरा व तीसरा मरीज दिल्ली से वापस आये हैं। सरकारी रिकार्ड के अनुसार पिछले एक माह में देश के विभिन्न हिस्सों से जिले में 32 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिक एवं प्रवासी व्यक्ति पन्ना जिले में आए हैं और यह सिलसिला निरंतर जारी है।
सांकेतिक फोटो।
देश और प्रदेश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों चिंताजनक बात यह है कि जिले में बाहर से लौटने वालों में देश में कोरोना के हॉट स्पॉट बने इलाकों से आने वालों की संख्या सैंकड़ों में है। पहले बाहर से आने वालों की स्क्रीनिंग कर उन्हें संस्थागत क्वारंटाइन किया जाता था लेकिन अब होम क्वारंटाइन किया जा रहा है। होम क्वारंटाइन का व्यक्ति द्वारा स्व अनुशासन और संयम के साथ जाने-अनजाने ईमानदारी से पालन न करने से कोरोना संक्रमण के प्रसार का खतरा बढ़ गया है। वहीं पन्ना जिले की गुनौर तहसील में ग्राम घाट सिमरिया के बाद बिलघाड़ी कोरोना का दूसरा केस सामने आने से इलाके के लोग खासे चिंतित हैं।