कोरोना की स्थिति भयावह ! जिले में पहली बार एक दिन में कोविड पॉजिटिव 98 मरीज़ मिले, एक्टिव केस बढ़कर 403 हुए

0
691
सांकेतिक फोटो।

 

*  संदिग्ध मरीजों के लगभग 2000 कोरोना सैम्पल की जांच रिपोर्ट आना शेष

*  कोंग्रेस नेता मनीष शर्मा और युवा क्रिकेटर वसीम सिद्दीकी का दुखद निधन

*  कोरोना काल में हो रहीं असामयिक मौतों से लोगों में भय और चिंता का माहौल

*  प्रशासन की अपील कोविड प्रोटोकॉल्स का जिम्मेदारी एवं ईमानदारी से करें पालन

पन्ना। (www.radarnews.in) कोरोना वायरस संक्रमण जिस भयावह तेज़ी से फ़ैल रहा है वह हालात के बेकाबू होने के पूर्व का स्पष्ट संकेत है। कोरोना की दूसरी लहर का कहर तमाम कोशिशों के बाद भी फिलहाल थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है। मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में पांच दिन के लॉकडाउन की समाप्ति की पूर्व संध्या यानी मंगलवार 13 अप्रैल को कोरोना के 98 नए मामले सामने आए हैं। सालभर में पहली बार जिले में एक दिन में इतनी बड़ी तादाद में कोविड पॉजिटिव मरीजों के मिलने से हड़कंप मचा है। यदि पिछले 24 घंटे में जिले में कुल संक्रमित पाए गए मरीजों की संख्या को देखा जाए तो यह आंकड़ा बढ़ सकता है।
कलेक्टर पन्ना एवं सीएमएचओ के द्वारा जनहित में संयुक्त रूप से जारी की गई अपील।
बहरहाल मंगलवार शाम को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा जारी मीडिया बुलेटिन के अनुसार कोविड-19 संक्रमित 98 नए मरीजों की पुष्टि के उपरान्त जिले में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1725 हो चुकी है। जिनमें 1316 उपचार के बाद स्वस्थ्य हो चुके है। कोरोना के एक्टिव केस का आंकड़ा वर्तमान में 403 हो गया। एक्टिव मरीजों में 328 मरीज़ होम आइसोलेट हैं जबकि अन्य 75 मरीजों का इलाज विभिन्न स्वास्थ्य संस्थाओं में जारी है। उल्लेखनीय है कि मंगलवार शाम तक की स्थिति में जिले नए मिले कोविड के 98 नए मरीजों में सर्वाधिक 69 केस पन्ना नगर में निकले है। जिले में कोरोना का सर्वाधिक प्रकोप पन्ना नगर में देखा जा रहा है। पिछले कुछ दिनों से पन्ना में कोरोना संक्रमण के सर्वाधिक प्रकरण सामने सामने आ रहे हैं। मंगलवार तक की स्थिति में कोरोना जांच के 1989 सैम्पल की रिपोर्ट आना शेष थी। जाहिर है इतनी बड़ी संख्या में सैम्पल की जांच पेंडिंग होने से आने वाले दिनों कोविड मरीजों की संख्या और अधिक बढ़ सकती है।
वसीम सिद्दीकी।
मंगलवार को पन्ना के जाने-माने क्रिकेटर एवं अपना बाजार के संचालक युवा व्यवसाई वसीम सिद्दीकी, तीन अन्य लोगों एवं आंचलिक क्षेत्रों से कुछ बीमार व्यक्तियों के असामयिक दुखद निधन की खबरें सोशल मीडिया पर आने के बाद शोक की लहर दौड़ गई। कोरोना काल में हो रहीं मौतों से लोगों में भय और चिंता व्याप्त है। हालांकि आधिकारिक तौर यह स्पष्ट नहीं हो सका कि उक्त लोगों की मौत किस कारण से हुई है।
मनीष शर्मा।
उधर, इस सदमे से लोग अभी उबरे भी नहीं थे कि आज सुबह जिला कोंग्रेस कमिटी पन्ना के संगठन प्रभारी मनीष शर्मा के दुखद निधन की खबर आते ही लोग पुनः स्तब्ध रह गए। वे पिछले कुछ दिनों से बीमार थे। पहले युवा क्रिकेटर वसीम सिद्दीकी और फिर कोंग्रेस नेता मनीष शर्मा के निधन से समूचा पन्ना नगर शोक में डूब हुआ है। सोशल मीडिया पर लोग गहरा दुःख व्यक्त कर मृत आत्माओं को श्रद्धांजली दे रहे है साथ ही शोक संतृप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदना जाहिर कर ईश्वर से उन्हें इस वज्रपात को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। इन दुखद घटनाओं के बाद पन्ना नगर में हर तरफ कोरोना के बढ़ते मामलों, असमय होने वाली मौतों और कोरोना महामारी से बचाव को लेकर विशेष सतर्कता बरतने की चर्चाएं सुनाई दे रहीं हैं।