क्राइम न्यूज़ : खाना न मिलने पर हैवान बना चाचा, आठ साल के भतीजे का बेरहमी से किया क़त्ल

0
613
फाइल फोटो।

*    पन्ना के रैपुरा थाना अंतर्गत सामने आई हत्या की जघन्य वारदात

*    बच्चे के पिता ने अपने चचेरे भाई को खाना देने से किया था इंकार

*    पुलिस ने फरार आरोपी को 24 घण्टे के अंदर किया गिरफ्तार

*    जिले में 48 घण्टे के अंदर हत्या की दो वारदातों से फैली सनसनी

पन्ना। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में एक दहलाने वाली वारदात सामने आई है। यहां रैपुरा थाना क्षेत्र अंतर्गत पटना ग्राम में शनिवार को रिश्ते के चाचा ने कथित तौर पर खाना न मिलने के चलते हैवानियत दिखाते हुए आठ साल के अपने भतीजे की बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपी ने हंसिया से बच्चे के शरीर पर कई प्राणघातक प्रहार करके शव को क्षत-विक्षत कर दिया। दरिंदगी का शिकार बने बालक अनिल आदिवासी के खून से लथपथ शव को जिसने भी देखा उसका कलेजा कांप उठा। विचलित करने वाली इस घटना की खबर आने के बाद से रैपुरा क्षेत्र में शोक और रोष का माहौल है। जघन्य हत्याकाण्ड को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया था, जिसे पुलिस की टीमों तत्परता से कार्रवाई करते हुए 24 घण्टे के अंदर आज गिरफ्तार कर लिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रैपुरा थाना के ग्राम पटना निवासी कल्याण सिंह आदिवासी उर्फ़ कल्लू के ताऊ जी के बेटे की पत्नी कुछ समय पूर्व अपने मायके चली गई थी, इसलिए कल्लू कुछ दिनों से अपने चचेरे बड़े भाई को खाना खिला रहा था। शनिवार 19 मार्च की सुबह बड़े भाई ने जब खाना माँगा तो कल्लू ने उसे रोज-रोज खाना देने से साफ़ इंकार कर दिया। वहीं भतीजे अनिल को खाना खाते हुए देखकर उसने अपने छोटे भाई कल्लू से कहा तुमने इसे तो खाना दिया है, इस पर कल्लू ने जवाब दिया वह मेरा बेटा है। इसी बात को लेकर दोनों चचेरे भाइयों के बीच कहासुनी हो गई।
कुछ देर बाद जब मामला शांत हो गया तो कल्लू बीड़ी लेने के लिए गांव की किराना दुकान की तरफ चला गया। उधर, कथित अपमान से बौखलाए बड़े भाई को अपने छोटे भाई का रवैया इस कदर नागवार गुजरा कि उसने कल्लू से बदला लेने लिए मौका देखकर शनिवार सुबह लगभग 10 बजे उसके बेटे अनिल के ऊपर हंसिया से कातिलाना प्रहार कर दिया। खून से लथपथ अनिल चींखता-चिल्लाता और गिड़गिताता रहा लेकिन निर्दयी चाचा को उस निर्दोष बालक पर जरा भी रहम नहीं आया। आरोपी ने बड़ी ही बेरहमी से एक के बाद एक कई प्रहार कर उसे मार डाला।
आसपास मौजूद लोग चींख-पुकार सुनकर जब मौके पर पहुंचे तो हत्यारोपी वहां से भाग निकला। रैपुरा थाना प्रभारी एवं उप निरीक्षक घनश्याम मिश्रा ने बताया कि बड़ी ही निर्ममता के साथ बच्चे की हत्या की गई है। उसके शरीर पर कई जगह गहरे घाव के निशान हैं। इस सनसनीखेज जघन्य घटना पर पुलिस के द्वारा हत्या का मामला दर्ज कर सरगर्मी से आरोपी की तलाश शुरू की गई। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में पुलिस टीमों ने तत्परता से चौतरफा घेराबंदी करते हुए संभावित ठिकानों पर दबिश देकर हत्यारोपी को रविवार 20 मार्च को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने पुलिस की पूंछतांछ में और मेमोरेंडम कथन दर्ज कराते हुए अपना गुनाह कबूल किया है। रैपुरा थाना प्रभारी घनश्याम मिश्रा ने बताया, आरोपी के कब्जे से हत्या की वारदात में प्रयुक्त हंसिया और घटना के समय पहने गए कपड़ों में मृतक के खून के धब्बे लगे होने पर कपड़ों को जप्त किया गया।
बेरहमी से भतीजे की हत्या करने वाले आरोपी को रैपुरा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर वारदात में प्रयुक्त हंसिया और उसके कपड़े जब्त किए।
उल्लेखनीय है कि, पन्ना जिले में होली के त्यौहार के समय महज 48 घण्टे के अंदर जघन्य हत्या की यह दूसरी सनसनीखेज वारदात है। इसके पूर्व कोतवाली थाना अंतर्गत ग्राम कृष्णा-कल्याणपुर के हीरा खदान क्षेत्र में होलिका दहन की रात गुरुवार 17 मार्च को करीब 11 बजे हत्या की पहली वारदात को अंजाम दिया गया था। जहां कथित तौर पर जुआ में हार-जीत को लेकर जुआरियों के बीच हुए विवाद के चलते ग्राम हरदुआ निवासी देवेन्द्र अहिरवार पिता सियाराम अहिरवार 24 वर्ष की चाकू से हमला कर हत्या नृशंस कर दी गई थी। इस हत्याकाण्ड में गांधी ग्राम निवासी बहेलिया समुदाय के तीन व्यक्तियों की संलिप्तता होने की चर्चा है।

वारदात : जुआ के विवाद में ली जान, चाक़ू से हमला कर नवयुवक की हत्या