हीरा कार्यालय के हवलदार का घर में मिला अधजला शव, हत्या की आशंका

0
557

*  खाली पड़े घर में पूजा करने के लिए आया था मृतक

*  गले में बंधा मिला फांसी का फंदा, मकान के फर्श पर औंधे मुँह पड़ा था शव

*   थाना कोतवाली पन्ना पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की शुरू की जांच

पन्ना। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना जिला मुख्यालय में स्थित हीरा कार्यालय के हवलदार का अधजला शव संदिग्ध परिस्थितियों में उसके ही घर में मिलने से सनसनी व्याप्त है। मौके पर मिले साक्ष्यों के आधार पर परिजन हत्या की आशंका व्यक्त कर रहे हैं। उनका ऐसा मानना है अज्ञात हत्यारोपी ने बड़ी ही बेरहमी से गला घोंटकर हत्या करने के बाद अपराध को छिपाने के लिए शव में आग लगा दी और फिर मकान के पीछे से भाग निकला। शहर के बीचों-बीच बीटीआई तिराहा के समीप स्थित श्री राम कालोनी में घटित इस घटना पर कोतवाली थाना पन्ना पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम करते हुए घटना के हर पहलू की गहनता से पड़ताल शुरू कर दी है। वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन एवं निगरानी में जारी पुलिस की जांच में बिहारी लाल पाण्डेय 50 वर्ष की संदिग्ध मौत का सच जल्द से जल्द सामने आने की उम्मीद की जा रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार हीरा कार्यालय पन्ना में हवलदार के पद पर पदस्थ बिहारी लाल पाण्डेय 50 वर्ष अपने परिवार के साथ शहर के टिकुरिया मोहल्ला में किराए के मकान में रहता था। जबकि उसका निजी मकान पन्ना में बीटीआई तिराहा के समीप श्री राम कालोनी में खाली पड़ा है। रविवार 15 नवंबर की शाम बिहारी लाल पाण्डेय अपने खाली पड़े मकान में पूजा करने के लिए आया था। देर शाम घर के अंदर से तेज धुआँ और आग की लपटें उठने पर आसपास रहने वाले लोगों को जब इसकी भनक लगी तो वे दंग रह गए। आनन-फानन पुलिस और फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई।
कालोनी में रहने वाले बिहारी लाल पाण्डेय के रिश्तेदार ने साहस कर किसी तरह मकान का दरवाजा तोड़ दिया लेकिन आग की प्रचण्ड लपटों के कारण अंदर जाना सम्भव नहीं हो सका। फायर ब्रिगेड के पहुँचने पर करीब आधा घण्टे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। मौके पर मौजूद कोतवाली थाना प्रभारी अरुण सोनी एवं पुलिस की एफएसएल टीम ने अंदर जाकर देखा तो बिहारी लाल पाण्डेय 50 वर्ष का अधजला शव संदिग्ध परिस्थितियों के बीच फर्श पर औंधे मुँह पड़ा मिला। मृतक के गले में पीले रंग के दुपट्टे का फंदा लगा था और पीठ के ऊपर पत्थर की सिल रखी थी। इन तमाम साक्ष्यों के मद्देनजर पीड़ित परिजन इसे प्रथम दृष्टया हत्या का मामला बता रहे हैं। उन्होंने आशंका व्यक्त करते हुए कहा कि, अज्ञात आरोपी मकान के पिछले हिस्से से अंदर दाखिल हुआ और फिर गला दबाकर हत्या की गई। अपराध को छिपाने के लिए शव को आग के हवाले कर आरोपी फरार हो गए।
इस सनसनीखेज मामले के प्रकाश में आने के बाद से ही नगर में भी लोग हवलदार बिहारी लाल पाण्डेय की निर्ममतापूर्वक हत्या किये जाने की चर्चा दबी जुबान कर रहे हैं। चर्चाओं के अनुसार वारदात में किसी करीबी व जानकार व्यक्ति का हाथ हो सकता है। उधर, घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस के द्वारा हर पहलू की गहनता से पड़ताल की जा रही है। मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने व मामले जांच उपरांत हवलदार की मौत का सच सामने आने की उम्मीद है।