संकटकाल में जनसेवा का उठाया बीड़ा, समर्पित संस्था ने गोद लिए 45 गाँव

0
700
गोद लिए गए ग्रामों में की जाने वाली गतिविधियों से सम्बंधित कार्ययोजना का बीएमओ अजयगढ़ के समक्ष प्रस्तुतीकरण करते हुए समर्पित संस्था प्रमुख अनुराग शर्मा एवं समीप बैठीं बीपीएम अजयगढ़ रूचि मिश्रा।

* कोरोना से बचाव और शासन की योजनाओं की दी जायेगी जानकारी

* चिन्हित गांवों में नुक्कड़ नाटक का मंचन कर ग्रामीणों को बांटे जाएंगे मास्क

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnewsn.in) कोरोना संकटकाल में मानव सेवा के लिए जिले की उदीयमान स्वयंसेवी संस्था “समर्पित” आगे आई है। संस्था के युवा पदाधिकारियों ने जिले के अजयगढ़ एवं देवेन्द्रनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अंतर्गत आने वाले 45 गांवों को संकल्प के साथ गोद लिया है। समर्पित संस्था के द्वारा इन गांवों में सम्बंधित बीएमओ, अन्य विभागों के विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों एवं पंचायत के अमले से समन्वय स्थापित कर स्थानीय लोगों को कोरोना महामारी से बचाव हेतु जागरूक किया जायेगा। साथ ही आवश्यक सतर्कता बरतने के लिए ग्रामीणों को निरंतर प्रेरित भी किया जाएगा। इसके अलावा गांव के बीमार एवं कुपोषित बच्चों को एनआरसी पहुँचाने में सहयोग तथा शासन की विभिन्न योजनाओं की आवश्यक जानकारी ग्रामीणों प्रदान की जायेगी। अजयगढ़ बीएमओ के. पी. सिंह राजपूत एवं देवेंद्रनगर बीएमओ अभिषेक जैन ने स्वयंसेवी संस्था की इस नेक पहल और इससे जुड़े युवाओं के जज्बे की सराहना की है। साथ ही अपनी ओर से हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में देश और प्रदेश के समक्ष जो चुनौतियाँ उनसे बेहतर तरीके से निपटने के लिए जनसेवा के प्रति संकल्पित और समर्पण भावना से भरे उत्साही युवाओं की ही आवश्यकता है।

कार्ययोजना का किया प्रस्तुतीकरण

बीएमओ देवेंद्रनगर डॉ. अभिषेक जैन को संस्था की गतिविधियों से अवगत कराते हुए समर्पित संस्था के पदाधिकारी।
समर्पित संस्था के प्रमुख अनुराग शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि उनकी संस्था के द्वारा अजयगढ़ ब्लॉक के 20 गांवों और देवेन्द्रनगर क्षेत्र के 25 गांवों को चिन्हित करते हुए उनमें संस्था की सक्रिय उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार की गई है। जिसका प्रस्तुतीकरण गत दिनों अजयगढ़ और देवेन्द्रनगर बीएमओ के समक्ष किया गया। श्री शर्मा ने बताया कि संस्था के पदाधिकारियों के द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए आमजन को मास्क लगाने, फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने, आवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलने, साबुन-पानी से दिनभर में कई बार हाथ धोने के लिए प्रेरित किया जाएगा। ग्रामीणों को मास्क वितरित किये जायेंगे। आपने बताया कि कोरोना जैसी महामारी से किस प्रकार अपना बचाव किया जाए इसके लिए चिन्हित गांवों में नुक्कड़ नाटक, दीवार लेखन और गोला बनाकर लोगों को जागरुक किया जाएगा। साथ ही आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के माध्यम से गांव के बीमार-कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराया जायेगा। जनसंख्या स्थरीकरण के लिए लोगों को परिवार नियोजन को अपनाने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा।

10 हजार पौधों का रोपण

पन्ना को हरा-भरा बनाने के सबकल्प को पूरा करने के लिए पौधरोपण करते हुए समर्पित संस्था के पदाधिकारी।
पर्यावरण संरक्षण के प्रति संवेदनशील समर्पित संस्था के द्वारा उल्लेखनीय कार्य किया जा रहा है। संस्था का दावा है कि पन्ना के नजदीक प्राकृतिक स्थल तपोभूमि चौपड़ा मंदिर के आसपास उत्तर वन मण्डल पन्ना के सहयोग से 10 हजार पौधों का रोपण कराया जा रहा है। पौधरोपण और उनके संरक्षण की जिम्मेदारी समर्पित संस्था से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता रेसू मिश्रा, भूरेलाल कुशवाहा, छोटे कुशवाहा, राहुल शर्मा, दिवाकर चौबे, गौरव चंसौरिया, पवन यादव के द्वारा निभाई जा रही है।