समान कार्य के आधार पर सहायक ग्रेड-3 को डाटा इंट्री ऑपरेटर के समान ग्रेड-पे देने की मांग

0
241
लिपिकों की पांच सूत्रीय मांगों के निराकरण को लेकर पन्ना में मुख्यमंत्री के नाम अपर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते हुए लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ के पदाधिकारी।

*      लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ ने पांच सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा

पन्ना। (www.radarnews.in) लिपिकों के हितों से जुड़ीं पांच सूत्रीय महत्वपूर्ण मांगों के निराकरण को लेकर मध्यप्रदेश शासकीय लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ के प्रांतीय आव्हान पर मंगलवार 11 अक्टूबर को पन्ना में संघ के जिलाध्यक्ष आरडी चौरसिया के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के नाम अपर कलेक्टर जे.पी. धुर्वे को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई है, अनुकंपा नियुक्ति से नियुक्त सहायक ग्रेड-3 कर्मचारी को सहानुभूतिपूर्वक सीपीसीटी परीक्षा के बंधन से मुक्ति दी जाए। सहायक ग्रेड-3 को समान कार्य के आधार पर डाटा एंट्री ऑपरेटर के समान रु 2400/- ग्रेड-पे दी जाए तथा तदानुसार उच्चतर लिपिक संवर्गों की ग्रेड-पे उन्नयन की जाए। वर्ष 2005 के बाद नियुक्त सहायक ग्रेड -3 को पुरानी पेंशन लागू की जाए। प्रदेश के समस्त लिपिकों को मंत्रालय के लिपिकों के समकक्ष समयमान वेतनमान का लाभ दिया जाए। लिपिक के संबंध में रमेश चन्द्र शर्मा समिति की अनुशंसाएं लागू की जाए।
ज्ञापन सौंपने वालों में प्रमुख रूप से आरडी चौरसिया जिलाध्यक्ष शासकीय लिपिक वर्गीय कर्मचारी संघ, कृष्ण पाल सिंह यादव अध्यक्ष अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा, आरके चौरहा अध्यक्ष स्वस्थ्य कर्मचारी संघ, आरपी प्रजापति जिलाध्यक्ष अजाक्स, रामलखन अग्रवाल प्रभारी अधीक्षक, जेपी लखेरा, मयंक मिश्रा, प्रशांत सहस्त्रबुद्धे, रज्जब मोहम्मद, राम प्रताप तिवारी, महेश गंगेले, मनोज पाण्डेय, महेंद्र सिंह, श्यामू सिंह, रामबाबू अहिरवार, श्रीमती बबली कोल, श्रीमती वंदना प्रजापति, श्रीमती नमिता मंडल, श्रीमती सरोज प्रजापति, आशीष कुमार रैकवार, आर के नागर सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।