पन्ना में बाघ पुनर्स्थापना की सफलता पर बनी फिल्म अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में चयनित

0
295
फिल्म "एमराल्ड जंगल, रिटर्न ऑफ द टाइगर्स" का पोस्टर।

*     कहानी बाघिन टी-1 की अगले माह पेरिस व लॉस एजेंलिस में होगा प्रदर्शन

*     फिल्म का टाइटल “एमराल्ड जंगल, रिटर्न ऑफ द टाइगर्स”

पन्ना। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघों का संसार पुनः आबाद होने (बाघ पुनर्स्थापना) पर बनी फिल्म एमराल्ड जंगल, रिटर्न ऑफ द टाइगर्स को अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल-2022 के लिए चुना गया है। इसका प्रदर्शन अलगे माह अमेरिका के लॉस एंजिल्स में किया जाएगा। करीब 80 मिनट की यह फिल्म मुंबई के डायरेक्टर सोमेखी लेखी के निर्देशन में बनाई गई है। इसे पूरे एक साल तक अलग-अलग लोकेशन में शूट किया गया। चार माह का समय इसके पोस्ट प्रोडक्शन में लगा है।
मध्यप्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व की बाघिन टी-1 | (फाइल फोटो)
फिल्म डायरेक्टर सुमेश लेखी बताया कि फिल्म में यह बताने की कोशिश है कि पन्ना टाइगर रिजर्व में दोबारा बाघों का संसार कैसे आबाद हुआ। प्रबंधन को इसके लिए किन संघर्षों से जूझना पड़ा है। फिल्म बाघिन टी-1, उनकी दोनों बेटियां पी-151 व पी-141 और इन बेटियों के शावकों पर फिल्माई गई है। इसमें पन्ना टाइगर रिजर्व के खूबसूरत नज़ारे भी हैं।
पन्ना टाइगर रिजर्व के अंदर फिल्म “एमराल्ड जंगल, रिटर्न ऑफ द टाइगर्स” फिल्म की शूटिंग के दौरान कैमरे पर डायरेक्टर सुमेश लेखी। (फाइल फोटो)
लॉस एंजिल्स के कैटलीना द्वीप के प्रसिद्ध थियेटर एवलान में 23 से 25 सितंबर तक यह फिल्म प्रदर्शित की जाएगी। इससे पहले 21 व 22 सितंबर को फिल्म को लांग बीच यूएसए में प्रदर्शित किया जाएगा। भारत में हिंदी व अंग्रेजी दोनों भाषाओं में यह फिल्म रिलीज की गई है। जो 40-40 मिनट के दो हिस्सों में डिवाइड है।