पन्ना जिले में कोरोना पॉजिटिव चौथा मरीज मिला, दिल्ली से लौटा प्रवासी श्रमिक जाँच में निकला संक्रमित

0
2683
फाइल फोटो।

* जिला चिकित्सालय के कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों की संख्या हुई तीन

* कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने से लोगों में चिंता और घबराहट का माहौल 

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) प्रवासियों की घर वापसी के बीच मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ रही है। आज एक और व्यक्ति की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर अब चार हो गई है। सोमवार 25 मई को दोपहर में जब एक और व्यक्ति की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने की खबर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को मिली तो विभाग के अंदरखाने हड़कम्प मच गया। कुछ ही देर में प्रशासनिक हल्कों में भी हलचल बढ़ गई। पन्ना जिला चिकित्सालय के कोविड वार्ड में अभी जिले के गुनौर जनपद क्षेत्र के ग्राम घाट सिमरिया और बिलघाड़ी निवासी कोरोना संक्रमित दो व्यक्ति क्रमश: 22 वर्ष एवं 44 वर्ष भर्ती हैं। दोनों ही आपस में रिश्तेदार हैं और एक साथ मिनी बस में सवार होकर दिल्ली से पन्ना लौटे थे।
पन्ना जिला चिकित्सालय में बनाए गए कोविड-19 वार्डों का निरीक्षण करते हुए कलेक्टर कर्मवीर शर्मा। फाइल फोटो
कोरोना का नया मरीज जनपद पंचायत पन्ना के ग्राम बरबसपुरा का निवासी 24 वर्षीय युवक पेशे से मजदूर है। जोकि लॉकडाउन में कई दिनों तक कोरोना के हॉटस्पॉट राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में फंसे रहने के बाद किसी तरह 16 मई को वापस अपने घर लौटा था। अपुष्ट सूत्रों के अनुसार नवयुवक प्रवासी श्रमिक को स्क्रीनिंग के बाद उसे होम क्वारंटीन किया गया था। इस दौरान कथित तौर पर 22 मई को उसकी अचानक तबियत ख़राब हुई। तत्पश्चात उसे 23 मई को जिला चिकत्सालय में भर्ती कराया गया और संदेह के आधार पर उसका सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिया गया। जिसकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई है। जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एल. के. तिवारी ने इसकी पुष्टि की है।
सांकेतिक फोटो।
समाचार लिखे जाने तक जिले के प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी ग्राम बरबसपुरा के लिए रवाना हो चुके थे। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा संक्रमित व्यक्ति की ट्रेवल हिस्ट्री, उसके प्रथम सम्पर्क एवं दिव्तीय सम्पर्क में आये लोगों की जानकारी जुटाई जा रही है। उल्लेखनीय है कि पन्ना जिले में कोरोना संक्रमण का पहला केस मुंबई से लौटे अजयगढ़ जनपद क्षेत्र के ग्राम हरदी निवासी एक 32 वर्षीय प्रवासी श्रमिक के रूप में सामने आया था। बगैर लक्षण वाला यह मरीज पिछले दिनों पूर्णतः स्वस्थ्य होकर वापस अपने घर लौट चुका है।
सांकेतिक फोटो।
पन्ना जिले में कोविड-19 के अब तक जितने भी मामले सामने आये है उनमें एक समानता है कि वे सभी प्रवासी हैं। मालुम होकि लॉकडाउन घोषित होने के बाद से लेकर अभी तक करीब 40 हजार प्रवासी जिले में आये हैं। और यह सिलसिला लगातार जारी है। देश के कोरोना हॉटस्पॉट बने क्षेत्रों से पन्ना जिले में लौटने वालों की तादाद सैंकड़ों में है। शायद यही वजह है कि प्रवासियों की असुरक्षित वापसी, उन्हें पूर्व की तरह संस्थागत क्वारंटाइन न कर होम क्वारंटाइन किये जाने से जिले के लोगों में कोरोना संक्रमण फैलने के बढ़ते खतरे को लेकर चिंता और घबराहट साफ़ देखी जा रही है।