भीषण सड़क हादसे का सबब बनी नरवाई की आग, प्रचण्ड लपटों से बचाव के चक्कर ट्रक-बाइक की भिड़न्त, एक की दर्दनाक मौत और ट्रक जलकर हुआ ख़ाक

0
763
हादसे की भयावता को बयां करती इस तस्वीर में आप साफ देख सकतें है कि आग से जलते ट्रक के समीप पड़े घायल भाइयों को बचाकर ले जाते स्थानीय लोग एवं पुलिसकर्मी।

* आग बुझाने बुलानी पड़ी फायर ब्रिगेड की चार गाड़ियां

* हादसे के बाद आरोपी ट्रक चालक और क्लीनर हुआ फरार

* पन्ना जिले के अमानगंज क़स्बा के समीप कटनी मार्ग की घटना

* आरोपी ट्रक चालक एवं नरवाई जलाने पर खेत मालिक के खिलाफ प्रकरण दर्ज

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) एनजीटी की सख्त रोक के बाबजूद बुंदेलखंड अंचल के किसान अज्ञानतावश या जानबूझकर नरवाई (पलारी) जला रहे हैं। इसके धुएं से जहां वायु प्रदुषण बढ़ने पर आबोहवा में जहर घुलता है वहीं खेत में फसलों अवशेष जलाने पर मिट्टी की उर्वरा शक्ति भी घटती है। गर्मी के मौसम में नरवाई जलाना भीषण अग्निकाण्ड को आमंत्रण देना है। मध्यप्रदेश के पन्ना जिले के तहसील मुख्यालय अमानगंज में बुधवार को कुछ ऐसा ही हुआ। अमानगंज-कटनी मार्ग किनारे स्थित एक खेत में कथित तौर पर नरवाई जलाने लिए के लिए लगाई गई आग हवा में इतनी तेजी से फैली कि आस-पास के खेतों को इसने अपनी चपेट में ले लिया। प्रचण्ड आग की झुलसाने वाली लपटों की तपिश मुख्य मार्ग तक पहुँचने लगीं। परिणामस्वरूप इनसे बचाव के चक्कर में एक ट्रक और बाइक की भिड़न्त हो गई।
आगजनी की घटना के कारण सड़क हादसे हादसे का शिकार बने चचेरे भाइयों की बाइक।
दिल दहला देने वाले इस भीषण हादसे में बाइक सवार चचेरे भाइयों में एक की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई जबकि दूसरे की हालत अत्यंत ही नाजुक बनीं है। इस हादसे के तुरंत बाद आग की तेज लपटों ने कोयले से भरे ट्रक को अपनी चपेट में ले लिया। आग इतनी भीषण थी कि चंद मिनिट में ही पूरे ट्रक में फ़ैल गई। गनीमत यह रही कि सड़क हादसे के तुरंत बाद ट्रक का चालक और क्लीनर खुद को जिन्दा जलने से बचाने के लिए ट्रक से कूदकर भाग गए। ट्रक में लगी आग को बुझाने के लिए दमकल की चार गाड़ियां बुलानी पड़ीं। आग पर जब तक पूरी तरह काबू पाया गया तब तक कोयले से भरा ट्रक काफी हद तक जल चुका था।
ट्रक में लगी आग को बुझाते दमकल वाहन के फायर फाइटर।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार 22 अप्रैल को अमानगंज क़स्बा के समीप कटनी मार्ग किनारे स्थित राजेन्द्र भारद्द्वाज के खेत में फसल के अवशेष डण्ठल (नरवाई) जलाने के लिए कथित तौर पर आग लगाई गई। तेज धूप-गर्मी के बीच हवा के चलने पर आग आसपास के खेतों में भी फ़ैल गई। कुछ ही देर में आग इतनी प्रचण्ड हो गई कि इससे उठतीं तेज लपटों की तपिश हवा के साथ सड़क से गुजरने वालों को झुलसाने लगी। इस दौरान दोपहर करीब 11 बजे कटनी से अमानगंज की ओर आ रहे ट्रक क्रमांक एम.पी. 35 एच.बी.- 4675 और पवई की तरफ जा रहे बाइक सवार जब वहां से गुजरे तो आग की लपटों की चपेट में आने से खुद को बचाने के चक्कर में दोनों की भिड़न्त हो गई। ट्रक की ठोकर से बाइक सवार दोनों चचेरे भाई सड़क पर गिर गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक ट्रक चालक ने बाइक सवारों को बचाने के लिए अपनी तरफ से पूरी कोशिश की। इस चक्कर में ट्रक को उसका चालक आग की ही तरफ ले गया गया। ट्रक को छूतीं आग की लपटों में जिन्दा जलने से बचने के लिए बिना किसी देरी के उसका चालक और क्लीनर कूदकर भाग गए।
आग में काफी हद तक जल चुका ट्रक।
उधर, इस भयानक हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस जब मौके पर पहुंची तब तक घायल वृन्द किशोर कुशवाहा की दर्दनाक मौत हो चुकी थी। जबकि उसका भाई प्रमोद कुशवाहा निवासी मझगवां सरकार जिंदगी और मौत से जूझ रहा था। आग की लपटों के समीप अचेत अवस्था में पड़े दोनों भाइयों को बचाते हुए पुलिसकर्मी आनन-फानन सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र अमानगंज ले गए। जहां ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक ने वृन्द कुमार कुशवाहा को मृत घोषित कर दिया। जबकि प्रमोद की अत्यंत ही नाजुक हालत को देखते प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला चिकित्सालय पन्ना के लिए रेफरल कर किया गया। इस बीच घटनास्थल पर खड़ा कोयले से भरा ट्रक आग की लपटों में जलने लगा। अमांगजन का दमकल वाहन तुरंत मौके पर पहुंचा और पानी की बौछारें छोड़कर आग को काबू करने की कोशिश की गई। लेकिन लगातर भीषण होती आग के मद्देनजर पन्ना, पवई और ककरहटी से भी फायर ब्रिगेड को बुलाना पड़ा। करीब एक घण्टे की कड़ी मशक्कत के बाद ट्रक और खेतों में लगी आग को काबू किया गया। हालांकि ट्रक तब तक 80 फीसदी से अधिक जल चुका था।
अमानगंज थाना प्रभारी राकेश तिवारी ने रडार न्यूज़ को जानकारी देते हुए बताया कि ट्रक में आग क्लीनर की तरफ से लगी और तेजी से पूरे ट्रक में फ़ैल गई। ट्रक में लगी आग सबसे पहले काबू किया गया क्योंकि उसके डीजल टैंक में विस्फोट होने का खतरा बढ़ गया था। गनीमत यह रही कि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। थाना प्रभारी राकेश तिवारी ने बताया कि हादसे पर दो आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध किये गए। जिसमें ट्रक के अज्ञात चालक के विरुद्ध आईपीसी की धारा- 279, 337, 304 ए के तहत प्रकरण दर्ज किया गया। खेत में नरवाई जलाने को लेकर खेत मालिक राजेन्द्र भारद्द्वाज के खिलाफ आईपीसी की धारा- 285, 434, 427 के अंतर्गत प्रकरण कायम किया है।
इनका कहना है –
“खेत में नरवाई जलाने के लिए लगाई गई आग की लपटों के मुख्य मार्ग तक फैलने पर उनसे बचाव की कोशिश में ट्रक और बाइक की भिड़न्त हुई है। जिसमें बाइक सवार एक व्यक्ति की दर्दनाक मौत हुई है जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल है। हादसे के बाद कोयले से भरा ट्रक भी आग की लपटों में जल गया। खेत की नरवाई जलाने के कारण हुए इस हादसे के लिए जिम्मेदार किसानों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है।”

– अवंतिका तिवारी, तहसीलदार, अमानगंज जिला पन्ना।