जनपद पंचायत अध्यक्ष | पन्ना में गीता कोरी, अजयगढ़ रामरती यादव, गुनौर में जलसी बाई निर्वाचित

0
1005
जनपद पंचायत पन्ना की नव निर्वाचित अध्यक्ष गीता गोपाल कोरी को जीत का प्रमाण पत्र देते हुए रिटर्निग ऑफिसर।

*      पन्ना में धर्मेन्द्र पान्डेय, अजयगढ़ महबूब खान व गुनौर में परमानंद शर्मा उपाध्यक्ष

पन्ना। (www.radarnews.in) त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जनपद अध्यक्ष का चुनाव आज जिले की तीन जनपद पंचायतों में संपन्न कराया गया। तीनों जनपद पंचायतों में पन्ना, अजयगढ़ व गुनौर में शांतिपूर्ण ढ़ंग से प्रक्रिया संपन्न हुई। जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा तीनों जनपदो के लिए रिटर्निगं अधिकारी नियुक्त किये गये थे। जिनके द्वारा विधिवत रूप से अध्यक्ष तथा उपाध्यक्षों के निर्वाचन संपन्न कराते हुए उन्हें प्रमाण पत्र प्रदान किए गए।
जनपद पंचायत पन्ना के नव निर्वाचित उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र पाण्डेय को जीत का प्रमाण पत्र देते हुए रिटर्निग ऑफिसर
पन्ना जनपद पंचायत अध्यक्ष का पद अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित किया गया था। जिसमें गीता गोपाल कोरी द्वारा अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल किया गया। इनके विरोध में वंदना बागरी ने भी नामांकन भरा। जिसमें सदस्यों द्वारा डाले गये मतों में गीता गोपाल कोरी को 19 तथा वंन्दना बागरी को मात्र 6 मत प्राप्त हुए। इस प्रकार गीता कोरी जनपद पंचायत पन्ना की अध्यक्ष निर्वाचित हुई। गीता कोरी को अध्यक्ष बनाने मे विक्रम सिंह बुन्देला तथा विष्णु प्रताप सिंह एवं अन्य साथियों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। इसी प्रकार पन्ना जनपद पंचायत में उपाध्यक्ष पद पर धर्मेन्द्र पाण्डेय निर्विरोध रूप से उपाध्यक्ष चुने गये।
जनपद पंचायत अजयगढ़ के उपाध्यक्ष पद पर निर्विरोध निर्वाचित महबूब खान को जीत का प्रमाण पत्र देते हुए रिटर्निग ऑफिसर।
अजयगढ जनपद पंचायत महिला अनारक्षित घोषित था जहां पिछड़ा वर्ग से आने वालीं रामरति यादव निर्विरोध रूप से अध्यक्ष चुनीं गईं। अजयगढ़ में महबूब खान जनपद उपाध्यक्ष पद पर निर्विरोध निर्वाचित हुए। गुनौर जनपद पंचायत अध्यक्ष का पद अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित किया गया था। गुनौर जनपद पंचायत में जलसी पति बेटू लाल आदिवासी अध्यक्ष चुनी गईं। उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस नेता पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष रमाकांन्त शर्मा के भतीजे परमानन्द शर्मा निर्वाचित हुए।
अजयगढ़ में ओबीसी महिला निर्विरोध अध्यक्ष बनी
अजयगढ़ जनपद पंचायत में अध्यक्ष पद अनारक्षित महिला के लिए कई दावेदार थे, लेकिन वहां ओबीसी वर्ग की महिला रामरती यादव का चुना जाना लगभग तय माना जा रहा था, आज हुआ भी यही। मगर, अध्यक्ष का चुनाव निर्विरोध होने से सामान्य वर्ग से आने वाले नेता कतिपय नाखुश नजर आए। दरअसल, अनारक्षित वर्ग में आमतौर पर सामान्य वर्ग अपना दावा करता है, क्योंकि आरक्षण के चलते उन्हें और कहीं मौका नहीं मिलता। ऐसे में अनारक्षित अध्यक्ष पद पर ओबीसी वर्ग की महिला के निर्विरोध निर्वाचित होने से एक ओर जहां समूचे अजयगढ़ क्षेत्र के बहुसंख्यक समाज में ख़ुशी की लहर देखी जा रही है तो वहीं सामान्य वर्ग के दावेदार तथा नेतागण इसे अपनी उम्मीदों को लगे तगड़े झटके के तौर पर देख रहे हैं। इनमें आंतरिक नाराजगी होना स्वाभाविक है लेकिन मौके पर कोई विरोध देखने को नहीं मिला। सभी जनपद सदस्यों ने एक राय होकर यह फैसला किया। अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष दोनों पदों के लिए निर्विरोध निर्वाचन संपन्न होना स्पष्ट संकेत है कि धरातल पर बहुमत की वास्तविकताओं के मद्देनजर अन्य दावेदारों की भी इस निर्णय में पूर्ण सहमति रही है।