कारम डैम क्षतिग्रस्त होने के मामले में बड़ी कार्रवाई, सीई समेत आठ इंजीनियर सस्पेंड

0
722
फाइल फोटो।

*    मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट करके दी जानकारी

*    कांग्रेस ने पूंछा सवाल, 105 करोड़ की लागत 304 करोड़ कैसे हुई ?

भोपाल।(www.radarnews.in) प्रदेश के धार जिले में 304 करोड़ की लागत वाले कारम बांध के क्षतिग्रस्त होने के मामले में जल संसाधन विभाग ने 8 अफसरों को सस्पेंड कर दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर बताया कि कारम बांध के निर्माण में हुई लापरवाही के मामले में प्रथम दृष्टया जांच के बाद निर्माण कार्य से जुड़े 8 अधिकारियों को सस्पेंड किया गया है। जांच के बाकी तथ्य जैसे ही आयेंगे, जो भी दोषी होंगे, वो छोड़े नहीं जायेंगे। सस्पेंड होने वाले अधिकारियों में मुख्य अभियंता सीएस घटोले, अधीक्षण यंत्री पी. जोशी, कार्यपालन यंत्री बीएल निनामा, एसडीओ वकार अहमद सिद्धकी एवं चार उपयंत्री विजय कुमार जत्थाप, अशोक कुमार, दशाबंता सिसोदिया और आरके श्रीवास्तव शामिल है।
जल संसाधन विभाग के अवर सचिव संजीव गुप्ता के द्वारा शुक्रवार 26 अगस्त को निलंबन आदेश जारी किये गए। एसडीओ समेत चारों उपयंत्रियों को कार्यालय मुख्य अभियंता जल विभाग उज्जैन अटैच किया गया है। इंजीनियरों के निलंबन आदेश में कहा गया है कि,प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन के अनुसार सुव्यवस्थित प्लानिंग के बिना नाला क्लोज़र का कार्य प्रारंभ कर दिया था। पानी की निकासी के लिए समुचित व्यवस्था नहीं की गई। साथ ही स्पेसिफिकेशन के उलट छोटा सेक्शन खड़ा कर काम करवा दिया। इसके कारण कई स्थानों पर पाइपिंग हुई, बांध के दाहिने तरफ डाउन स्ट्रीम में मिट्टी धंसी और बांध क्षतिग्रस्त हो गया। उल्लेखनीय है कि पूर्व में बांध निर्माण से जुड़ी दो कंपनियों को ब्लैक लिस्ट किया जा चुका है।

ठेकेदार कौन है…वित्त पोषक या किस मंत्री का है खास ?

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं प्रवक्ता केके मिश्रा कारम बांध फूटने के मामले में शिवराज सरकार पर लगातार हमला बोल रहे हैं। इस मामले में जल संसाधन विभाग के आठ अफसरों को निलंबित किए जाने की खबर को उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए इससे जुड़े कई असहज करने वाले सवाल उठाकर शिवराज सरकार को घेरने का प्रयास किया है। मिश्रा ने अपने ट्वीट में बेहद तंज भरे अंदाज में लिखा है- “कारम डेम:CE सहित 8 अफसर सस्पेंड ! तू इधर-उधर की न बात कर यह बता- भ्रष्टाचार का बांध क्यों फूटा, 105 करोड़ की लागत 304 करोड़ कैसे हुई, ठेकेदार कौन है, भाजपा का वित्त पोषक है या नहीं, किस मंत्री का खास है ? चोर अफसर हैं या नेता ? सस्पेंड किसे होना चाहिए”? कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा कारम बांध के क्षतिग्रस्त होने की खबर आने के बाद से ही इसके निर्माण में जुड़ीं अनियमितताओं को प्रभावी तरीके से उठाते रहे है।