एमपी : अवैध खनन के मामले में तीन कंपनियों पर साढ़े चार करोड़ का जुर्माना लगाया

0
1002
पन्ना जिले की शाहनगर तहसील के कचौरी ग्राम में स्थित रामराज हाईटेक बिल्डिकॉन का क्रेशर प्लांट।

*    पन्ना जिले के खनिज विभाग ने की बड़ी कार्यवाही

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) मध्य प्रदेश के खनिज मंत्री मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह के गृह जिला पन्ना में बड़े पैमाने पर चौतरफा हो रहे अवैध खनन को लेकर गंभीर सवालों और तीखी आलोचनाओं से घिरे स्थानीय खनिज विभाग के अफसर आखिरकार एक्शन मोड में आ गए हैं। अवैध उत्खनन कर्ताओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करके खनिज महकमे के अफसरों ने अपनी भूमिका को लेकर उठ रहे तमाम सवालों का जवाब देने का प्रयास किया है। “देर आए, पर दुरुस्त आए” वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए खनिज विभाग पन्ना के द्वारा की गई कार्रवाई से जिले मे सक्रिय अवैध उत्खनन कर्ताओ में जबर्दस्त हडंकप मचा है। बहुमूमूल्य खनिज सम्पदा की लूट पर प्रभावी अंकुश लगाने के उद्देश्य से प्रथम चरण में तीन बड़ी कंपनियों पर कार्रवाई की गई है। जिले में सड़क और बांध का निर्माण कर रही तीन कंपनियों के खिलाफ अवैध खनन के प्रकरण दर्ज कर उन पर साढ़े चार करोड़ का जुर्माना लगाया गया है।
गुनौर तहसील के ग्राम झुमटा में रामरज कम्पनी के द्वारा पत्थर खनन के लिए काफी गहराई तक खोदी गई विशाल खदान में भरा पानी।
जिला खनिज अधिकारी रवि पटेल ने जानकारी देते हुए बताया कि सड़क निर्माण कंपनी रामरज कंस्ट्रक्शन के द्वारा 28 हजार घनमीटर बोल्डर पत्थर का अवैध खनन करने पर प्रकरण दर्ज कर सर्वाधिक साढ़े तीन करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। एक अन्य सड़क निर्माण कंपनी हिलवेज कंस्ट्रक्शन के द्वारा बीरा ग्राम में 1486 घन मीटर पत्थर गिट्टी का अवैध खनन करने के मामले में प्रकरण दर्ज करते हुए 48 लाख रुपए के जुर्माना का नोटिस भेजा गया है। जिले की अजयगढ़ तहसील अन्तर्गत रून्ज बांध का निर्माण कर रही बहुराष्ट्रीय कंपनी एल.एण्ड. टी पर ग्रेवल (हीरा चाल) के अवैध खनन का प्रकरण दर्ज कर 50 लाख रुपए का जुर्माना प्रस्तावित किया गया है।
रवि पटेल, जिला खनिज अधिकारी पन्ना।
जिला खनिज अधिकारी पन्ना रवि पटेल ने एक सवाल के जवाब में जोर देते हुए कहा कि अवैध खनन को किसी भी सूरत मे बर्दाश्त नही किया जायेगा। अवैध खनन करने वाले चाहे जो भी हों उनके खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। आपने कहा कि अवैध खनन के खिलाफ इसी तरह की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी। कई महीने बाद कार्यवाही करने के सवाल पर आपने कहा कि अवैध खनन के मामलों में कार्यवाही करने में थोड़ा समय तो लगता है। क्योंकि इसमें अन्य विभागों से भी मदद लेनी पड़ती है। आपने बताया कि मंगलवार 7 दिसंबर को खनिज के द्वारा दमचुआ ग्राम में दो अवैध हीरा खदानों पर भी छापमार कार्रवाई की गई है। जहां अवैध रूप से संचालित दो मोबाइल क्रेशर भी जप्त किये गए हैं। उधर, रेत के अवैध खनन के मामले में अजयगढ के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के द्वारा प्रकरण पंजीबद्ध करने की कार्यवाही की जा रही है।
पन्ना के विश्रामगंज ग्राम में रुंज नदी पर बाँध निर्माण कार्य कर रही एल.एण्ड.टी. द्वारा निकाली गई ग्रेवल के नदी किनारे खड़े विशाल पहाड़।
उल्लेखनीय है कि पन्ना जिले के अजयगढ़ तहसील क्षेत्र अंतर्गत केन नदी के घाटों, निजी तथा शासकीय भूमियों पर बड़े पैमाने पर रेत का अवैध खनन हुआ है। पन्ना के रेत खनन घोटाले के मामले को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने प्रभावी तरीके से उठाते हुए लोकायुक्त जस्टिस से इसकी लिखित शिकायत की है। पिछले माह राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने पन्ना जिले के अजयगढ़ तहसील क्षेत्र का सघन दौरा कर अवैध रेत खदानों का निरीक्षण किया था। रेत की लूट के लिए आधा दर्जन से अधिक ग्रामों में सैंकड़ों एकड़ भूमि को अवैध खनन से खोखला करने वाले रेत माफियाओं के द्वारा अनुबंध की आड़ में क्षेत्र के किसानों पर किये जा रहे अत्याचार की जानकारी भी उन्होंने सीधे पीड़ितों की जुबानी सुनीं थी।
पन्ना जिले के सीमावर्ती बरौली ग्राम में बगैर लीज स्वीकृति के निजी भूमि पर धड़ल्ले से संचालित अवैध खदान से रेत खनन करते हुए प्रतिबंधित मशीनें। फाइल फोटो
वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने रेत की बेतहाशा खुली लूट के मुद्दे पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों, खनिज मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह तथा भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं खजुराहो सांसद विष्णु दत्त शर्मा पर रेत माफिया को संरक्षण देकर काली कमाई करने का बेहद गंभीर आरोप लगाया था। ऐसा माना जा रहा है कि राज्यसभा सांसद के दौरे से हुई शिवराज सरकार बदनामी के बाद प्रशासन ने अवैध रेत खनन के मामले में कार्यवाही की सुध ली है।