धान खरीदी में खेला | 3 केन्द्रों पर संदिग्ध स्थिति में मिली 256 क्विंटल धान समेत 2 वाहन जप्त

0
303
फाइल फोटो।

*      उपार्जन कार्य में व्यापारियों एवं बिचौलियों की संलिप्तता उजागर

*     खरीदी केन्द्र प्रभारियों, समिति प्रबंधक एवं अन्य के विरुद्ध प्रकरण दर्ज

पन्ना। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी किसानों के नाम पर व्यापरियों और बिचौलियों से बड़े पैमाने पर धान की सरकारी खरीदी का खेला चल रहा है। जिसका भंडाफोड़ जिला आपूर्ति अधिकारी देवेन्द्र कुमार खोबरिया के आकस्मिक निरीक्षण से हुआ है। समर्थन मूल्य पर धान व ज्वार के खरीदी केन्द्रों में निरीक्षण के दौरान गंभीर अनियमितताओं और व्यापारी एवं बिचैलियों द्वारा उपार्जन कार्य में संलिप्तता पर उपार्जन नीति के तहत कार्यवाही की गई है। निरीक्षण के दौरान तीन खरीदी केन्द्रों संदिग्ध स्थिति में मिली 256 क्विंटल धान समेत दो मालवाहक वाहनों को जप्त कर संबंधित खरीदी केन्द्र प्रभारी, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति प्रबंधक एवं अन्य के विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया गया है। इस कार्रवाई के चलते सरकारी धान खरीदी में किसानों के नाम पर खेला करके नोट छापने वालों में जबरदस्त हड़कंप मचा है।
उल्लेखनीय है कि समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी शुरू होने के बाद से ही केन्द्रों पर किसानों को अपनी धान की तौल कराने के लिए कई-कई दिनों तक इंतजार पड़ रहा है। केन्द्रों पर व्याप्त अव्यस्था-अराजकता के चलते आक्रोशित किसानों के लगातार आंदोलित होने की ख़बरें आ रहीं है। जिन्हें गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर के निर्देश पर जिला आपूर्ति अधिकारी पन्ना देवेन्द्र कुमार खोबरिया ने द्वारा समर्थन मूल्य पर धान व ज्वार के खरीदी केन्द्रों में निरीक्षण के दौरान अनियमितताओं और व्यापारी एवं बिचैलियों द्वारा उपार्जन कार्य में संलिप्तता पर उपार्जन नीति के तहत कार्यवाही की गई है।
जिला आपूर्ति अधिकारी देवेन्द्र कुमार खोबरिया ने बताया कि धान खरीदी केन्द्र प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति महुआडांड़ा खरीदी स्थल बांके बिहारी वेयर हाउस अमानगंज में निरीक्षण के दौरान एक मिनी ट्रक क्रमांक एमपी-19 जीए-2352 में 180 बोरी धान 72 क्विंटल लावारिस स्थिति में पाई गई। साथ ही मौके पर किसान के पास वैध दस्तावेज नहीं मिला। इस कारण केन्द्र प्रभारी सुशील दुबे से वाहन सहित धान जप्त कर समिति प्रबंधक संतोष दुबे एवं अन्य को शामिल कर प्रकरण बनाया गया। इसी प्रकार पन्ना से पहाड़ीखेरा मार्ग पर महिन्द्रा पिकअप वाहन क्रमांक एमपी-35 जीए-0719 की जांच के दौरान 32 क्विंटल वजन के 80 बोरी धान पाया गया। वाहन चालक दीपक कुमार पाल के पास भी वैध दस्तावेज नहीं मिले। इस पर वाहन के साथ धान जप्ती कर पुलिस थाना की अभिरक्षा में सौंप कर प्रकरण बनाया गया।
ग्रामीणजनों की शिकायत पर प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति अहिरगवां में 424 बोरियों में 152 क्विंटल धान मिलने पर जप्ती की कार्यवाही की गई और समिति प्रबंधक बृजेश दुबे के विरूद्ध प्रकरण बनाया गया। एक अन्य मामले में खरीदी केन्द्र प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति लक्ष्मीपुर खरीदी स्थल ओपन कैप लक्ष्मीपुर और प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति अजयगढ़ खरीदी स्थल बहादुरगंज की जांच में उपार्जन संबंधी अनियमितताएं पाए जाने पर प्रकरण निर्मित किया गया। यहां किसानों से अतिरिक्त राशि लेने, केन्द्र में जरूरी व्यवस्थाएं जैसे सफाई के लिए पर्याप्त छन्ने, पंखा, पेयजल, बैठने की व्यवस्था और उपार्जन नीति के अनुरूप टैग में कृषक का नाम और कोड अंकित नहीं होना जैसी अनियमितताएं भी पाई गईं। जिला आपूर्ति अधिकारी ने कहा कि आगामी दिनों में भी खरीदी केन्द्रों पर निरीक्षण अथवा जांच के दौरान अनियमितता मिलने पर प्रकरण निर्मित कर कार्यवाही की जाएगी। सभी खरीदी केन्द्र संस्था के संचालकों को खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 के तहत उपार्जन नीति के अनुसार उपार्जन कार्य संपादित कराने के लिए निर्देशित किया गया है।