आंख फोड़वा काण्ड पर गरमाई सियासत : कमलनाथ का आरोप- “शिवराज सरकार में बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं”

0
817
आंख फोड़वा काण्ड का शिकार युवती गुड़िया ढीमर।

*   कांग्रेसियों ने पीड़िता को आर्थिक सहायता और सुरक्षा देने सौंपे ज्ञापन

*   युवती की आँखों में एसिड नहीं जहरीले पौधे अकौआ का दूध डाला था

*    गृह मंत्री बोले, युवती की दोनों आंखें और दृष्टि क्षमता पूरी तरह सुरक्षित

*   दोनों आरोपी जेल भेजे गए, जानलेवा हमला करने का चलेगा मामला

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में दबंगों के द्वारा एक युवती के साथ बर्बरता करते हुए उसकी दोनों आंखों को फोड़ने का प्रयास किया गया। इस हैरतअंगेज घटना के सामने आने के बाद से प्रदेश की सियासत गरमा गई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने महिला सुरक्षाऔर बढ़ते अपराधों के ज्वलंत मुद्दे को लेकर सूबे की शिवराज सरकार पर जमकर हमला बोला है। आंख फोड़वा काण्ड को लेकर कमलनाथ के ट्वीट करने के बाद महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा से जुड़े संवेदनशील मुद्दे पर विपक्ष और सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है।
आंख फोड़वा काण्ड के आरोपियों की गिरफ्तारी के संबंध संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस करते पन्ना कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक।
वहीं गुरुवार को पन्ना में कलेक्टर संजय कुमार मिश्र व पुलिस अधीक्षक धर्मराज मीना ने संयुक्त रूप प्रेस कांफ्रेंस कर खुलासा किया कि, युवती की आंखों में आरोपियों ने एसिड नहीं बल्कि जहरीले पौधे अकौआ का दूध डाला था। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ दर्ज आपराधिक प्रकरण में आईपीसी की धारा 326, 326 ए, 307 बढ़ाई है। गुरुवार को इस मामले पर प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का भी बयान आया। उन्होंने बताया कि चित्रकूट के नेत्र चिकित्सालय में भर्ती पीड़ित युवती की दोनों आंखें और दृष्टि क्षमता पूरी तरह सुरक्षित है।
आंख फोड़वा काण्ड के दोनों फरार आरोपियों को को गिरफ्तार करने के बाद पन्ना में उनका जुलूस निकालते हुए पुलिसकर्मी।
उल्लेखनीय है कि, यह पूरी घटना एक शक के कारण हुई है। घटना के मुख्य आरोपी सुम्मेर सिंह की बेटी दो माह पूर्व कहीं चली गई है। जिस वजह से आरोपियों को शक है कि उनकी बेटी को भगाने में उसकी सहेली गुड़िया ढीमर (पीड़िता) का हाथ है। फिलहाल भागी हुई युवती के बारे में कोई सुराग नहीं मिल पाया है। पुलिस गुम इंसान का प्रकरण कायम कर मामले की जांच कर रही है। बताते चलें कि मंगलवार 21 सितम्बर की सुबह आठ बजे 20 साल की गुड़िया ढीमर और उसके 18 साल के भाई कपिल को पड़ोसी सुम्मेर सिंह और गोल्डी राजा पूंछतांछ की बात कहकर अपने खेत पर ले गए। यहां उन्होंने युवती और उसके भाई के साथ मारपीट की। इसी दौरान सुम्मेर राजा ने जबरदस्ती पीड़िता की आंखों में जहरीले पौधे अकौआ का दूध डाल दिया और पीड़िता के भाई को अपने साथ ले गए। मदद के लिए पीड़िता के शोर मचाने के बाद आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और उसे अस्पताल ले गए।

प्रदेश को देश भर में शर्मशार करने वाली है घटना

कमल नाथ अध्यक्ष, मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी।
पूर्व मुख्यमंत्री एवं मध्यप्रदेश कांग्रेस कमिटी अध्यक्ष कमलनाथ ने बुधवार 22 सितम्बर को एक ट्वीट कर पन्ना जिले के बराहो में युवती की आंख फोड़ने की क्रूरता पूर्ण जघन्य घटना को लेकर शिवराज सरकार पर तीखा हमला बोला है। कमलनाथ ने एनसीआरबी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए प्रदेश में महिलाओं और बेटियों के खिलाफ बढ़ते अपराधों पर गहरी चिंता व्यक्त की है।
उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- शिवराज सरकार में मध्यप्रदेश में क्या हो रहा है, बहन-बेटियां कहीं भी सुरक्षित नहीं है, अपराधियों को क़ानून का ख़ौफ़ नहीं ? एनसीआरबी की ताज़ा रिपोर्ट ने भी प्रदेश की कानून व्यवस्था की वास्तविकता उजागर की है। अब पन्ना जिले के पवई थाना क्षेत्र के ग्राम बराहों में एक युवती पर एसिड अटैक की नृशंस घटना सामने आई है, जिसके कारण युवती की दोनों आंखें झुलस गई है। युवती व उसके भाई के साथ मारपीट व छेड़खानी का मामला भी सामने आया है। यह घटना प्रदेश को देश भर में शर्मशार व कलंकित करने वाली है। मैं सरकार से माँग करता हूँ कि युवती की आंखों का बेहतर से बेहतर इलाज सरकार अपने खर्च पर करवाये। युवती के बारे में जानकारी लगी है कि वह एक छोटी सी दुकान चलाकर अपना भरण पोषण करती थी, उसके भरण पोषण का भी सरकार समुचित इंतजाम कर उसकी हर संभव मदद करे व दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जावे।”
कमलनाथ का काम सिर्फ विरोध करना है : मंत्री बृजेन्द्र
मंत्री, बृजेन्द्र प्रताप सिंह।
आंख फोड़वा काण्ड को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के ट्वीट पर प्रदेश खनिज एवं श्रम विभाग के मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह पलटवार करते हुए शिवराज सरकार का बचाव किया है। मंत्री बृजेन्द्र ने शिवराज सरकार की तारीफ़ करते हुए कहा कि पन्ना पुलिस ने घटना के सिर्फ 5 घण्टे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मैं पुलिस को तत्परता से कार्रवाई करने के लिए धन्यवाद देता हूं। ये शिवराज जी का शासन है जिसमें माफियाओं, अपराधियों को सख्त सजा दिलाई गई है। कांग्रेस के समय में घटित ऐसी घटनाओं के आरोपी भी नहीं मिलते थे। आपने आरोप लगाया कि, कमलनाथ जी ने ऐसा ट्वीट अनावश्य रूप राजनैतिक रोटियों सेंकने के मकसद से किया है।

पन्ना में कांग्रेस नेताओं ने विरोध-प्रदर्शन कर सौंपें ज्ञापन

पीड़िता को आर्थिक सहायता एवं सुरक्षा प्रदान करने की मांग को लेकर पन्ना ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनीस खान के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता।
युवती की आंखों में जहरीला पदार्थ डालकर आंखे फोड़ने की कोशिश करने वाले दबंगों के घोर निंदनीय कृत्य को लेकर पन्ना जिले में गहरा रोष व्याप्त है। जिले के पवई थाना अंतर्गत बराहो ग्राम में सामने आई इस सनसनीखेज घटना को लेकर गुरुवार 23 सितम्बर जिले भर में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध-प्रदर्शन-नारेबाजी कर ज्ञापन सौंपे गए। समस्त ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों के अध्यक्षों के नेतृत्व में राज्यपाल के नाम पर सौंपे गए ज्ञापनों के माध्यम से पन्ना जिले में कानून व्यवस्था की बद्तर स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए पीड़ित युवती व उसके परिजनों को सुरक्षा प्रदान करने, 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने, पीड़िता का इलाज सरकारी खर्च पर कराने तथा आरोपियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की मांग की गई है।
इसके अलावा पवई में बजरंग दल एवं दुर्गावाहिनी से जुड़े कार्यकर्ताओं ने स्कूली बच्चियों की रैली निकालकर राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है। हिंदूवादी संगठनों ने आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने, बेसहारा गरीब पीड़िता को आर्थिक सहायता प्रदान करने एवं जीवन यापन के लिए सरकारी नौकरी देने की मांग की है।