लॉकडाउन में बेरोज़गार पन्ना के 70 टूरिस्ट गाइडों को पुणे की पर्यटन कम्पनियों ने दी आर्थिक सहायता

0
372
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए आर्थिक सहायता राशि लेने के लिए एकत्र पन्ना के टूरिस्ट गाइड।

* संकट के समय 3-3 हजार रुपए की सहायता राशि मिलने पर आभार जताया

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए पिछले एक माह से देशव्यापी लॉकडाउन जारी है। इस कारण पन्ना जिले के टूरिस्ट गाइड पूरी तरह बेरोजगार हो चुके हैं। पन्ना टाइगर रिजर्व अंतर्गत मड़ला, हिनौता, रनेहफाल, पाण्डव फॉल आदि में पर्यटकों को सेवाएं देने वाले पन्ना जिले के टूरिस्ट गाइडों का रोजगार ठप्प होने और आर्थिक तंगी के चलते इनके लिए परिवार का भरण-पोषण करना मुश्किल हो रहा था। कोरोना संकट के साथ-साथ आर्थिक संकट से जूझते टूरिस्ट गाइडों की खराब हालत का पता चलने पर पुणे महाराष्ट्र की पर्यटन कम्पनियों (उद्योग) से जुड़े लोग इनकी मदद के लिए आगे आये हैं। पुणे की करीब आधा दर्जन पर्यटन कम्पनियों ने संयुक्त रूप से पन्ना जिले के 70 टूरिस्ट गाइडों को 3-3 हजार रुपये की नकद आर्थिक सहायता प्रदान की है। बेहद मुश्किल वक्त में मिली आर्थिक मदद के लिए टूरिस्ट गाइडों ने पर्यटन कंपनियों का शुक्रिया अदा करते हुए उनका आभार जताया है।
आर्थिक सहायता राशि प्राप्त करते हुए पन्ना के टूरिस्ट गाइड।
उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण के चलते लाॅकडाउन की वजह से पर्यटन पूरी तरह से बंद है जिससे गाइडों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। केन्द्र या राज्य सरकार से अब तक किसी तरह की मदद न मिलने से इनकी मुश्किलें लगातार बढ़ रहीं थी। प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियोें को इनके द्वारा अपनी बदहाली बताई गई लेकिन जवाब नहीं मिला। संकट की इस घड़ी में नेशनल अवार्ड प्राप्त स्थानीय टूरिस्ट गाईड आर.पी. ओमरे द्वारा इसकी जानकारी पुणे महाराट्र की पर्यटन कंपनियों को दी गई। टूरिस्ट गाइडों की समस्या सुनकर पुणे पर्यटन उद्योग से जुड़े लोग सहर्ष मदद के लिये आगे आए। उनके द्वारा पन्ना टाइगर रिजर्व के 70 गाइडों को तीन-तीन हजार रुपये की आर्टिक सहायता प्रदान की गई।
गाइडों की मदद करने वालों में पुणे की टूरिज़्म इंडस्ट्री से जुड़े नेचर वाॅक के संचालक अनुज खरे, जीविधा के संचालक राजीव पांड्या, जंगल सफारी के संचालक ओमकार, टेरिटोरी के संचालक संदेश गुर्जर, फूटलूज जर्नी के संचालक परेश देशमुख शामिल हैं। यह सभी संस्थायें टूरिस्ट गाइडों को प्रशिक्षण एवं पर्यटकों को घुमाने, उनके ठहरने-भोजन आदि की सुविधा उपलब्ध कराने का कार्य करती हैं। इनके द्वारा पन्ना टाईगर रिजर्व के नेशनल अवार्ड प्राप्त टूरिस्ट गाईड आर.पी. ओमरे के माध्यम से 2 लाख 10 हजार रुपये की सहायता राशि भेजी गई। सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए बुधवार 22 अप्रैल को 2020 को पन्ना टाईगर रिजर्व के 70 गाइडों को सहायता राशि का वितरण किया गया। इस अवसर पर परिक्षेत्र अधिकारी देवेन्द्र नायक सहित पन्ना टाईगर रिजर्व के अन्य अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे। आर्थिक सहयता दिलाने में पन्ना टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर का भी अहम योगदान रहा।