विश्व मलेरिया दिवस : पन्ना जिले से वर्ष 2027 तक मलेरिया के उन्नमूलन का लिया संकल्प

0
629
मलेरिया जागरुकता सप्ताह के उपलक्ष्य पर मच्छर जनित बीमारियों को लेकर लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से जागरुकता वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए सीएमएचओ पन्ना।

*   आयोजित कार्यशाला में मच्छरों की प्रभावी रोकथाम के बताए गए उपाए

*    मच्छर जनित बीमारियों के प्रति जनजागरूकता बढ़ाने प्रचार वाहन किया रवाना

शादिक खान, पन्ना। (www.radarnews.in) कोरोना संकट के बीच इस साल भी 25 अप्रैल को विश्व मलेरिया दिवस के उपलक्ष्य पर पन्ना में कोविड के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए जिला स्तर पर मुख्य कार्यक्रम आईपीडीपी हाॅल पन्ना में आयोजित हुआ। कार्यक्रम में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी पन्ना डाॅ. जी.पी. आर्या, जिला मलेरिया अधिकारी एच.एम.रावत, जिला कुष्ठ सलाहकार डाॅ. संजय अहिरवार और विभिन्न कर्मचारी एवं मीडिया प्रतिनिधि उपस्थित रहे। कार्यक्रम में सीएमएचओ डाॅ.जी.पी.आर्या ने बताया गया कि जिले में उप स्वास्थ्य केन्द्र एवं आशा कार्यकर्ता के पास मलेरिया की जांच की सुविधा उपलब्ध है। इस वर्ष प्राइवेट सेक्टर से भी मलेरिया की रिपोर्ट देने के लिए सहयोग लिया जा रहा है। इस अवसर पर वर्ष 2027 तक पन्ना जिले से मलेरिया को मिटाने के लिए संकल्प लिया गया। कार्यशाला में मच्छरों को पैदा ना होने देने तथा उनके प्रभावी नियंत्रण हेतु किए जाने वाले आवश्यक उपायों के संबंध आवश्यक जानकारी दी गई।
मच्छरों को पैदा होने से रोकने के लिए अपने घरों की एवं आसपास की नालियों की साफ़-सफाई पर विशेष ध्यान देने की बात कही गई। घर में रखीं पानी की टंकियों-बर्तनों आदि की सप्ताह में एक बार सफाई कर उनके पानी को बदलने, पानी को अच्छी तरह ढंककर रखने, घर के आसपास की नालियों में पानी की समुचित निकासी एवं उनकी साफ़-सफाई बनाए रखने, वर्षाकाल में पानी का ज्यादा समय तक एक जगह भराव न होने देने के लिए आवश्यक उपाए करने तथा सतर्कता बरतने पर जोर दिया गया।
पन्ना में जिला स्तर पर मलेरिया दिवस पर आयोजित हुई कार्यशाला में उपस्थिति स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी।
जिला मलेरिया अधिकारी एच.एम.रावत ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति को ठण्ड लगकर बुखार आता है तो उसे मलेरिया की जांच अवश्य करानी चाहिए। ग्राम स्तर से लेकर जिला स्तर तक एवं अन्य बड़ी सरकारी स्वास्थ्य संस्थाओं में सभी जगह मलेरिया निःशुल्क जांच एवं उपचार की सुविधा उपलब्ध है। आपने लोगों से मच्छरों के डंक से स्वयं को बचाने के लिए नियमित रूप से मच्छरदानी लगाकर सोने, शाम के समय नीम की सूखी पत्तियां जलाकर धुंआ करने आदि की सलाह दी। साथ ही मच्छरों को पैदा होने से रोकने के लिए नियमित रूप से आवश्यक उपाए करने की अपील की है।
उल्लेखनीय है कि 25 अप्रैल से दिनांक 1 मई 2021 तक मलेरिया जागरुकता सप्ताह का मनाया जा रहा है। आम नागरिकों को मच्छर जनित बीमारियों के प्रति जागरूक करने के लिए कार्यक्रम के अंत में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.जी.पी.आर्या द्वारा मलेरिया जागरुकता वाहन को हरी झण्डी दिखाकर जिले के भ्रमण पर रवाना किया गया।

आंचलिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी कार्यक्रम हुए

इस वर्ष विश्व मलेरिया दिवस की थीम “शून्य मलेरिया लक्ष्य तक पहुंचना है” रही। इस थीम के जिले में साथ खण्ड स्तर पर भी विश्व मलेरिया दिवस का आयोजन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर खण्ड चिकित्सा अधिकारियों की उपस्थिति में किया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र देवेन्द्रनगर में डाॅ.अभिषेक जैन, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अजयगढ़ में डाॅ.पवन द्विवेदी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अमानगंज में डाॅ. अमित मिश्रा, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पवई में डाॅ. एम.एल.चैधरी, एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शाहनगर में डाॅ. सर्वेश कुमार लोधी द्वारा कार्यशालाओं का आयोजन विश्व मलेरिया दिवस पर किया गया तथा नगरीय क्षेत्र में माईकिंग की व्यवस्था की गई।